"उच्चारण" 1996 से समाचारपत्र पंजीयक, भारत सरकार नई-दिल्ली द्वारा पंजीकृत है। यहाँ प्रकाशित किसी भी सामग्री को ब्लॉग स्वामी की अनुमति के बिना किसी भी रूप में प्रयोग करना© कॉपीराइट एक्ट का उलंघन माना जायेगा।

मित्रों!

आपको जानकर हर्ष होगा कि आप सभी काव्यमनीषियों के लिए छन्दविधा को सीखने और सिखाने के लिए हमने सृजन मंच ऑनलाइन का एक छोटा सा प्रयास किया है।

कृपया इस मंच में योगदान करने के लिएRoopchandrashastri@gmail.com पर मेल भेज कर कृतार्थ करें। रूप में आमन्त्रित कर दिया जायेगा। सादर...!

और हाँ..एक खुशखबरी और है...आप सबके लिए “आपका ब्लॉग” तैयार है। यहाँ आप अपनी किसी भी विधा की कृति (जैसे- अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कर सकते हैं।

बस आपको मुझे मेरे ई-मेल roopchandrashastri@gmail.com पर एक मेल करना होगा। मैं आपको “आपका ब्लॉग” पर लेखक के रूप में आमन्त्रित कर दूँगा। आप मेल स्वीकार कीजिए और अपनी अकविता, संस्मरण, मुक्तक, छन्दबद्धरचना, गीत, ग़ज़ल, शालीनचित्र, यात्रासंस्मरण आदि प्रकाशित कीजिए।

यह ब्लॉग खोजें

समर्थक

बुधवार, 28 अगस्त 2013

“आ जाओ अब कृष्ण-कन्हैया” (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')


धूल भरी क्यों आज गगन में?
क्यों है अँधियारा उपवन में?

 सूरज क्यों दिन में शर्माया?
भरी दुपहरी में क्यों छाया?

चन्दा गुम क्यों बिना अमावस?
नजर नही आती क्यों पावस?

क्यों है धरती रूखी-रूखी?
क्यों है खेती सूखी-सूखी?

छागल क्यों हो गई विदेशी?
पागल क्यों है आज स्वदेशी?

कहाँ गयी माता की बिन्दी?
सिसक रही क्यों अपनी हिन्दी?

प्यारी भाषा बहक रही क्यों?
अंग्रेजी ही चहक रही क्यों?

कहने भर की आजादी है!
आज वतन की बर्बादी है!!

नजर न आता कहीं अमन है!
दागदार हो गया चमन है!!

कहाँ हो गई चूक भयंकर?
विष उडेलते हैं क्यों शंकर?

रक्षक जब उत्पात मचाये!
विपदाओं से कौन बचाये?

आस लगाये यशोदा मइया!
आ जाओ अब कृष्ण-कन्हैया!!

15 टिप्‍पणियां:

  1. कृष्ण जन्मदिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ

    उत्तर देंहटाएं
  2. कहने भर की आजादी है!
    आज वतन की बर्बादी है!!

    नजर न आता कहीं अमन है!
    दागदार हो गया चमन है!!

    कहाँ हो गई चूक भयंकर?
    विष उडेलते हैं क्यों शंकर?

    रक्षक जब उत्पात मचाये!
    विपदाओं से कौन बचाये?

    आस लगाये यशोदा मइया!
    आ जाओ अब कृष्ण-कन्हैया!!

    हार्दिक शुभकामनाएँ

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत सुंदर रचना !
    शुभकामनाएँ !

    उत्तर देंहटाएं
  4. श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की हार्दिक बधाइयाँ एवं शुभकामनायें,सादर!!आपकी यह उत्कृष्ट प्रस्तुति कल गुरुवार (29-08-2013) को "ब्लॉग प्रसारण : शतकीय अंक" पर लिंक की गयी है,कृपया पधारे.वहाँ आपका स्वागत है.

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत ही सुन्दर अभिव्यक्ति...
    जय श्री कृष्णा...
    :-)

    उत्तर देंहटाएं
  6. सुन्दर अभिव्यक्ति...
    कृष्ण जन्मदिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ

    उत्तर देंहटाएं
  7. आपकी इस प्रस्तुति का लिंक 29-08-2013 को चर्चा मंच पर है
    कृपया पधारें
    धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं
  8. एक बड़ी अच्छी रचना के लिये धन्यवाद. श्रीकॄष्ट जन्माष्टमी पर शुभकामनायें.

    उत्तर देंहटाएं
  9. कृष्ण जन्माष्टमी की बहुत बहुत शुभकामनायें

    हिंदी ब्लॉग समूह चर्चा-अंकः8

    उत्तर देंहटाएं
  10. श्री कृष्ण जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  11. वाह---- दिल के सारे जख्मों को उड़ेल दिया लाजवाब ---आमीन -

    उत्तर देंहटाएं




  12. ♥ जय श्री कृष्ण ♥
    ✿⊱╮✿⊱╮✿⊱╮
    ..(¯`v´¯) •./¸✿
    (¯` ✿..¯))✿/¸.•*✿
    ...(_.^._)√•*´¨¯(¯`v´¯).
    ...✿•*´)//*´¯`*(¯` ✿ .¯)
    .....✿´)//¯`*(¸.•´(_.^._)
    ♥ जय श्री कृष्ण ♥

    श्री कृष्ण जन्माष्टमी की बधाइयां और शुभकामनाएं !


    ✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿
    आस लगाये यशोदा मइया!
    आ जाओ अब कृष्ण-कन्हैया!!

    वर्तमान परिस्थितियों को ले'कर
    अच्छी रचना के माध्यम से कृष्ण के आह्वान के लिए
    आदरणीय शास्त्री जी आपका आभार !
    सुंदर रचना के लिए साधुवाद
    ✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿✿
    मंगलकामनाओं सहित...
    राजेन्द्र स्वर्णकार

    उत्तर देंहटाएं

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails